Longest Gazal Of The World

About Gazal

Generally ,Gazal is of five to ten 'Ashaar' ('sher'). The World's longest Gazal is of 10,000 'sher'.This one gazal,took almost 10 years to write. About 50% 'Ashaar' of this gazal is spiritual nad visionary.

Speciality of World's longest gazal

  • Longest gazal of 10,000 ashaar
  • Worlds longest gazal written on 'kafiye of alif'
  • Longest gazal of world in 'bahe mutdarik'
  • First gazal to be sung in 21 tunes
  • An Unattended combination of Urdu & Hindi
  • A different composition in the world of Gazal

Other features: -

कुल अशआर [शेर] 10,000
कुल मतले 300
कुल मक्ते 400
कुल नुक्ते 6,000
कुल मिसरे 20,000
कुल लफ़्ज 12,000
कुल हर्फ़ 3,40,000
कुल धुनें 21

About Book "World's Longest Gazal"

प्रस्तुत पुस्तक श्री चन्दन की प्रकाशित ग़ज़ल क्रति “विश्व की सबसे लम्बी ग़ज़ल” है जिसमें 10,000 अशआर प्रकाशित किये गये थे। श्री चन्दन की इस दस हजार अशआर की ख़ूब ख़ूब लम्बी ग़ज़ल की ख़ूबी यह है कि इसमें ग़ज़ल के सारे तत्व मौजूद है जो श्री चन्दन को एक शऊरमन्द ग़ज़लकार प्रमाणित करते है, इससे ग़ुजरते हुए ऐसा कहीं भी महसूस नहीं होता कि ग़ज़ल कहने भर के लिए कही गईहै।

ग़ज़ल का मिज़ाज़ तो ग़ज़ल की रूह है – उसकी चमक हमें इस ग़ज़ल के अशआर में भरपूर दिख़ाई देती हैं । प्रमाण कुछ अशआर देख़ें :-

आओ नफरत को दफ़न कर डाले
जिंदगी प्यार के सिवा क्या हे?
नफरतों से ही घर जले चन्दन
प्यार से आज तक जला क्या हे?
एक मुसलमां तो एक हे हिंदू
आदमी, आदमी रहा क्या हे?
खंजरों को तमीज़ क्या होगी
पेट क्या हे गला क्या हे?
कश्तियों से कोई भी कागज की
पार दरिया हुआ क्या हे?
सबके हातों में छुपे हे खंजर
ये मुसाफे की इश्तिदा क्या हे
पड़ गया रंग पीला पत्तों का
दोस्त इस गांव से गया क्या हे?
पांच कुल हर्फ़ हे मुहब्बत के
न पढ़े हों तो फिर पढ़ा क्या हे?
फिर नई लेके चल अदाकारी
भूल जा वक्त से से गीला क्या हे?
सबके हातों में छुपे हे खंजर
ये मुसाफे की इश्तिदा क्या हे